breaking news New

यरुशलम में अमेरिकी दूतावास के ट्रांसफर से पहले हिंसा, 52 मरे

नई दिल्ली।

अमेरिका के इस्राइली दूतावास को तेल अवीव से येरुशलम स्थानांतरित कार्यक्रम का आगाज होना था। किंतु नियति ने कुछ और ही तय कर रखा था शायद।  अमेरिकी दूतावास के स्थानांतरण की विरोध होना लगा। इस विरोध-प्रदर्शन में हिंसा की चिंगारी भड़क उठी, सबसे पहले हिंसा की चिंगारी गाजा पट्टी के सीमावर्ती प्रांत में भड़की। इस दौरान हुए संघर्ष में इस्राइली गोलीबारी में 52 फलस्तीनी मारे गए जबकि 500 से अधिक लोग घायल हो गए।

येरुशलम में व्हाइट हाउस प्रतिनिधि मंडल के अलावा इस्राइली अधिकारी भी नए अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन समारोह के लिए एकत्रित थे। इस बीच सीमा के पास हजारों लोग इकट्ठे हो गए और सीमा के पास पत्थर फेंकने लगे।

फलस्तीन के प्रदर्शनकारी पत्थर फेंकते हुए.

फलस्तीन के प्रदर्शनकारी सीमा पर लगी बाड़ के नजदीक आ रहे थे, जबकि दूसरी तरफ इस्राइली सेना ने भी बाड़ तोड़ने की किसी भी कोशिश को नाकाम करने की पूरी तैयारी कर रखी थी।

इस्राइली सेना ने कहा कि गाजा पट्टी सीमा के साथ कई जगहों पर करीब 10,000 फलस्तीनी दंगाई सुरक्षा बाड़ से करीब आधा किलोमीटर दूर तंबू में जुटे हुए थे। इस दौरान हुए संघर्ष में इस्राइली गोलीबारी में 52 फलस्तीनी मारे गए जबकि 500 से अधिक लोग घायल हो गए।

0 Comments

Leave a Comment