breaking news New

कर्नाटक में सियासत तेज, बैठकों का दौर शुरू

बेंगलुरु।
कर्नाटक में राजनीतिक सियासत तेज हो गई है, बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही अपनी-अपनी सरकार बनाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही हैं। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी बीजेपी पार्टी बहुमत से महज 8 सीट पीछे रह गई। दूसरी तरफ, बीजेपी को सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस और जेडीएस ने भी हाथ मिला लिया है।

आज अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के महासचिव और एमपी, केसी वेणुगोपाल और अन्य कांग्रेस विधायक पार्टी की विधायक दल की बैठक के लिए कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमिटी के ऑफिस पहुंचे। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया का बयान भी आया, उन्होंने कहा कि ‘हमारे सारे विधायक हैं, कोई भी मिसिंग नहीं है। हमें पूरा विश्वास है कि हम सरकार बना रहे है। कांग्रेस नेता एएल पाटिल बय्यापुर का कहना है कि ‘मुझे बीजेपी नेताओं ने फोन किया और कहा कि हम आपको मंत्रालय देंगे और मंत्री बना देंगे पर मैं यहीं रहूंगा। एचडी कुमारस्वामी हमारे मुख्यमंत्री हैं।’

जेडीएस नेता कुमारस्वामी ने कहा कि हम पहले ही कांग्रेस के समर्थन का फैसला कर चुके हैं, इसलिए हमने विधायक दल की बैठक बुलाई। किसी और तरह के फैसले पर विचार करने का सवाल ही नहीं उठता।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि जनता राज्य में बीजेपी की सरकार चाहती है और हम सरकार बनाकर रहेंगे। समस्याएं तो कोई भी पैदा कर सकता है, लेकिन कर्नाटक की जनता हमारे साथ है। बैठक के बाद हम आगे की रणनीति तैयार करेंगे। कांग्रेस की बैकडोर एंट्री को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बीजेपी नेता येदियुरप्पा ने कहा कि विधायक दल की बैठक में सीएम पद के लिए नेता का चुनाव होगा। फिर हम राजभवन जाएंगे। हम सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे और कल गवर्नर से समय मांगेंगे। वहीं कर्नाटक बीजेपी के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री केएस ईश्वरप्पा का कहना है कि ‘इसमें कोई शक नहीं है कि सरकार हम ही बनाएंगे, 100 फीसदी सरकार हम बनाएंगे, आप बस देखिए और इंतजार कीजिए। नतीजे कल ही आए हैं, अभी बस एक ही दिन बीता है।’

0 Comments

Leave a Comment