breaking news New

कैश की किल्लत के बीच आयकर विभाग का छापा

नई दिल्ली :  देश के कुछ हिस्सों से एटीएम पर कैश की किल्लत की खबरें आने के बाद आयकर विभाग ने नकदी जमा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई तेज कर दी है। आयकर विभाग ने इसी दिशा में कदम उठाते हुए कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और पंजाब में अलग-अलग जगहों पर छापे मारकर 14.48 करोड़ रुपये नकदी जब्त की है।

सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग ने ऐसे व्यक्तियों और कारोबारियों के ठिकाने पर छापेमारी की जिनके यहां नकदी जमा होने की सूचना मिली थी। जब्त की गई 14.48 करोड़ रुपये की नकदी 2000 रुपये और 500 रुपये के नोट में है। आयकर विभाग के अनुसार हैदराबाद में दो रियल एस्टेट कारोबारियों के यहां छापेमारी में 5.10 करोड़ रुपये नकदी जब्त की है जिसका उनके बही खाते में कोई हिसाब नहीं था। इसी तरह पंजाब के खन्ना जिले में मैन्युफैक्चरिंग गतिविधियां करने वाले एक ग्रुप पर छापेमारी के दौरान 2.62 करोड़ रुपये की ज्वैलरी बरामद की गयी है। यह ग्रुप अपने बही खाते से बाहर खरीद-बिक्री कर रहा था।

उसे अपने बही खाते में दर्ज नहीं करता था और बहुत कम मुनाफा दिखाता था। आयकर विभाग ने इस समूह के पांच लॉकरों को अटैच कर दिया था। विभाग के सूत्रों का कहना है कि कर्नाटक में यह नकदी पीडब्ल्यूडी ठेकेदारों के यहां से बरामद हुई है। इन ठेकेदारों को इस साल जनवरी-मार्च के दौरान ठेके दिए गए थे। कर्नाटक में नकदी जब्त होने का मामला इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यहां विधानसभा चुनाव चल रहा है।

पिछले सप्ताह भी आयकर विभाग ने मैसूर और बेंगलुरु में दर्जनभर से अधिक ठेकेदारों के यहां छापेमारी कर 6.76 करोड़ रुपये नकदी जब्त की थी। यह नकदी बेनामी लॉकरों से बरामद की गयी थी। यह नकदी भी 2000 रुपये और 500 रुपये के नोट में थी और इनमें से कई ठेकेदारों के पास बही-खाते भी नहीं थे। गौरतलब है कि आयकर विभाग कर्नाटक में अब तक 10.62 करोड़ रुपये नकदी जब्त कर चुका है। साथ ही आयकर विभाग ने राज्य से 1.33 करोड़ रुपये मूल्य की ज्वैलरी भी बरामद की है।