breaking news New

ट्रोनिका पुलिस पर लगा कस्टडी में महिला की मौत का आरोप

रविंद्र बंसल

लोनी। ट्रोनिका पुलिस पर कस्टडी में महिला की मौत का आरोप लगा है। महिला की बेटी का कहना है कि पुलिस ने जहर देकर मां को मार दिया है। हालांकि, पुलिस इसे हार्ट अटैक का केस बता रही है। इस मामले में महिला का पोस्टमार्टम दिल्ली के जीबी पंत हॉस्पिटल के डॉक्टर्स करेंगे।

हत्या के मामले में थी वांछित
बता दें, ट्रोनिका सिटी थाने के नौरसपुर गांव में मार्च, 2017 में वृजेश्वर त्यागी का मर्डर हुआ था। इसका आरोप दीपक त्यागी, उसकी पत्नी सरिता त्यागी और बेटों दीपांशु और हिमांशु पर लगा। इस मामले में पुलिस दीपक और उसके बेटों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। बीते रविवार को पुलिस ने लोनी के बंथला फाटक के पास सरिता की मां राजकुमारी के घर दबिश दी। वहां से पुलिस ने सरिता को दोपहर 3 बजकर 42 मिनट पर गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद उसे ट्रोनिका सिटी थाने ले आई।

खून की उल्टियां कर रही थी सरिता
सरिता की बेटी मेनका का आरोप है कि गिरफ्तारी की खबर पाकर वह 5 बजकर 30 मिनट पर ट्रोनिका सिटी थाने पहुंची तो मां खून की उल्टियां कर रही थी और उसका शरीर नीला पड़ता जा रहा था। मेनका का कहना है कि बेहोश होने से पहले मां ने बताया कि पुलिसवालों ने उसे कुछ खिला दिया है और उसका मोबाइल भी छीन लिया है। मां की हालत बिगड़ता देख वह पुलिसवालों से उसे हॉस्पिटल ले जाने के लिए कहती रही। लेकिन पुलिसवालों ने कहा कि यह बहाना बना रही है। काफी हो-हल्ला मचने के बाद पुलिस उसे लोनी सीएचसी ले गई।

पुलिस ने बेटी का मोबाइल छीना

खास बात है कि इस दौरान बेटी को पुलिस ने पुश्ता पर ही उतार दिया। जब मेनका हॉस्पिटल पहुंची तो उसकी मां को एक रूम में रखा गया था और डॉक्टर नहीं थे। फिर उसने 100 नंबर पर कॉल करने की कोशिश की थी तो वहां मौजूद पुलिस वालों ने उसका मोबाइल छीन लिया। इसके बाद मेनका वहां भी चिल्लाने लगी। लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई और पुलिस सरिता को लेकर जिला अस्पताल चली गई। मेनका को पुलिस ने फिर से साथ नहीं जाने दिया।

मौत की खबर देने से कतराती रही पुलिस

रात करीब 1 बजे मंडोला पुलिस मेनका के घर पहुंची है और उसे जीटीवी हॉस्पिटल चलने को कहा। रात में अकेले होने का हवाला देकर  मेनका ने साथ में चलने से मना कर दिया।  इसके बाद पुलिस फिर उसके पास सोमवार सुबह 3:30 पर पहुंची और कहा कि तुम्हारी मां जीबी पंत हॉस्पिटल में एडमिट है। जब मेनका सुबह करीब 5 बजे जीबी पंत हॉस्पिटल पहुंची तो उसे पता चला कि उसकी मां सरिता की मौत हो गई है।

कोर्ट ले जाते समय आया हार्ट अटैक: पुुलिस
वहीं, इस मामले में पुलिस की अलग दलील है। पुलिस का कहना है कि कोर्ट में पेशी के वक्त ले जाते समय सरिता को हार्ट अटैक आया। इसके बाद उसे सीएचसी ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल में भी उसकी तबीयत को बिगड़ता देख डॉक्टरों ने उसे दिल्ली के जीबी पंत हॉस्पिटल रेफर कर दिया। अब इस मामले में जीबी पंत के डॉक्टर्स की टीम पोस्टमार्टम करेगी।

0 Comments

Leave a Comment