breaking news New

10 साल पहले बिल्डिंग बनाकर ANM की नियुक्ति करना भूले

रवींद्र बंसल

लोनी। 10 साल से ना केवल अग्रौला के 12000 लोग, बल्कि यहां बने स्वास्थ्य उपकेंद्र को भी जांच शुरू होने का इंतजार है। दरअसल यहां स्वास्थ्य उपकेंद्र के नाम पर यहां बिल्डिंग तो खड़ी कर दी गई है, लेकिन 10 साल में ना तो तो कोई मशीन लगी और ना ही एएनएम की नियुक्ति की गई। सरकारें बदलती गईं, लेकिन सुविधा के नाम पर आज भी केवल बिल्डिंग ही खड़ी है।

तहसील क्षेत्र के अग्रौला गांव के स्वास्थ्य उपकेंद्र को बनाने में 10 वर्ष पूर्व लाखों रुपए खर्च किए गए। इस केंद्र में जच्चा-बच्चा की स्वास्थ्य जांच होनी थी और समय-समय पर टीकाकरण आदि करना था।

स्वास्थ्य केंद्र बनने के बाद से आज तक इस उपकेंद्र पर एएनएम तक नहीं बैठी है। इससे जच्चा-बच्चा के स्वास्थ्य की जांच समय पर नहीं हो पाती है। लोगों को टीकाकरण आदि कराने के लिए भी लोनी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर जाना पड़ता है। गर्भवती महिलाओं के लिए डिलीवरी के समय परेशानी बढ़ जाती है।

लाखों रुपए खर्च करने के बाद ही स्वास्थ्य विभाग ने इसकी कोई सुध नहीं ली है। इस बिल्डिंग कैंपस में सूअर का जमावड़ा रहता है। लोगों ने स्वास्थ्य विभाग से इस उप केंद्र में सुविधाएं उपलब्ध कराने एवं यहां पर एएनएम की तैनाती की मांग कई बार की, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। स्वास्थ्य विभाग के रवैये अग्रौला गांव एवं उक्त कॉलोनियों के निवासियों में भारी रोष है।