breaking news New

वाह री गाजियाबाद पुलिस: ‘गुनहगार’ हवालात में, ‘पीड़ित’ का पता नहीं

प्रतीक्षा सक्सेना दत्ता

गाजियाबाद। ज़िले भर में कभी कोई ऑपरेशन तो कभी कोई अभियान चलाकर वाहवाही लूटने वाली पुलिस चाहे जनता के साथ होने के कितने ही दावे कर ले, मगर फिर भी कुछ ऐसे कारनामे कर ही देती है जो यह सोचने पर मजबूर कर ही देती है कि क्या वाकई कुछ बदला है | ऐसा ही हालिया मामला सामने आया है सिहानी गेट थाने में, जहां पुलिस ने तथाकथित गुनहगार को तो हवालात में डाल दिया लेकिन 36 घंटे बाद भी वो पीड़ित का पता नहीं लगा सकी | आप भी यह सुन कर हैरान हो रहे होंगे पर यही सच है |

मामला मेरठ रोड पर हुएएक एक्सीडेन्ट से जुड़ा है | रविवार को राज नगर एक्सटेन्शन चौक के पास एक कार पीछे से एक कैंटर में जा घुसी थी | इसके बाद उधर से गुजर रहे लोगों ने ही घायलों को किसी अस्पताल में भर्ती करा दिया था | उसके बाद जब थाने में घायलों के बारे में जानकारी लेनी चाही तो थाने से चौकी और चौकी से थाने के बीच मामले को टालते रहे | पूरा रविवार बीत गया और पूरा सोमवार भी, लेकिन हादसे के संबंध में पुलिस अंजान ही रही |  यहां खबर ये नहीं है | असली खबर ये है कि जिस कैंटर में वो कार घुसी थी उसका ड्राइवर कल से ही थाने में बैठाकर रखा है |

अब ज़रा सोचिये कि पीड़ित का तो पता नहीं, मगर तथाकथित गुनहगार हाथ में जरूर है | थाने में बैठे ड्राइवर को छुड़ाने के लिए मेरठ से यहां पहुंचे लोगों ने बताया कि वो तो खुद ही घटना के बाद थाने आ गया था , यह बताने के लिए कि जो घायल हुए हैं उनके इलाज में वो मदद करना चाहते हैं | लेकिन घायलों का तो पता नहीं उसे जरूर थाने में बैठा लिया गया | इतना ही नहीं लोगों का आरोप है कि उनसे थाने में बैठे चालक के खाने और नाश्ते के नाम से पैसे भी लिए जा रहे हैं।

उधर , आज जब बडी संख्या में लोग थाने पहुँचे तो थानाध्यक्ष वी के पांडे ने मामले की जानकारी ना होने की बात कहते हुएे स्टाफ को फटकार लगायी और उसे जल्दी ही छोड़ने की बात कही |

0 Comments

Leave a Comment