breaking news New

मुरादनगर में व्यापारियों ने पूछा; कब मिलेगी ऑटो और ई-रिक्शा चालकों के आतंक से मुक्ति?

ओम प्रकाश शर्मा

मुरादनगर। शहर के मेन कस्बा रोड और नगर के बस स्टैंड पुलिस सहायता केंद्र के समीप दिन निकलते ही ऑटो चालकों और ई-रिक्शा चालकों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसके चलते नौकरी पेशा आने-जाने वाले लोगों, स्कूल आने जाने वाली छात्राओं और बाजार से खरीदारी करने वाली महिलाओं का ओलंपिक तिराहा से निकलना दुश्वार हो रहा है।

 

चालक अपने रिक्शा व ऑटो को बीचो बीच सड़क पर खड़ा करके उनमें सवारी बैठाने को लेकर आपस में इतनी भद्दी भद्दी गाली देकर पेश आते हैं। जिसमें दुकानदारों एवं वहां रह रहे लोगों को इनका आतंक झेलना पड़ रहा है। इन रिक्शा व ऑटो चालको के आतंक के कारण महिलाएं एवं छात्राओं को रोजाना इनकी भद्दी भद्दी गालियां झेलनी पड़ती है। जो शर्म के मारे शर्म से जमीन में गङी जाती है।

 

बता दें कि पुलिस की लापरवाही के चलते ई रिक्शा व ऑटो चालकों की इस तरह की बदतमीजी एक बेशर्मी की बातों का बर्दाश्त करना महिलाओं एव छात्राओं का दिनचर्या में शुमार हो चुका है। पुलिस का इस ओर ध्यान ना होने के कारण इन चालको के हौसले दिन पर दिन बुलंद होते जा रहे हैं। वैसे भी इस ओलिंपिक तिराहा पर सबसे ज्यादा भीड़ खरीदारी करने वालों मे महिलाओं की दिखती है। इन चालको की गाली गलौज के कारण दुकानदारों की दुकानदारी पर काफी फर्क पड़ रहा है। इस ओलिंपिक तिराहा पर खङे ई रिक्शा व टेम्पो चालको की शिकायत प्रशासन व पुलिस प्रशासन से काफी बार की जा चुकी है। लेकिन आज तक इन चालको के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई।

 

व्यापारियों का कहना था कि पूर्व में तैनात कस्बा चौकी प्रभारी इमाम जैदी के कार्यकाल में उक्त स्थानों पर एक भी ई-रिक्शा खड़ा दिखाई नहीं देता था lजब से उनका स्थानंतरण अन्य थाने मे हुआ हे उक्त स्थानों की ओर देखने वाला कोई नहीं है।

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password