breaking news New

गर्मी बढ़ते ही बढ़े बिजली के नखरे, छीना लोगों का नींद और चैन

ओम प्रकाश शर्मा

मोदीनगर। गर्मी बढ़ते ही क्षेत्र में अघोषित बिजली कटौती होनी शुरु हो गई है। ऐसे में नागरिकों की नींद और चैन गायब है। वहीं विद्युत विभाग के अधिकारी जल्द समस्या का समाधान करने का दावा कर रहे हैं।

आजकल मोदीनगर क्षेत्र में 24 घंटे में से चार घंटे की घोषित बिजली कटौती हो रही है और टूकड़ों में कम से कम दो से तीन घंटे की अघोषित बिजली कटौती हो रही है। बतादें कि शासन से मोदीनगर को 24 घंटे बिजली आपूर्ति के आदेश हैं। मगर उसके बावजूद भी पावर कारपोरेशन द्वारा सुबह चार बजे से सुबह छह बजे तक और शाम को चार बजे से शाम छह बजे तक घोषित कटौती हो रही है। इसके अलावा टूकड़ों में तीन से चार घंटे की अघोषित कटौती अलग से हो रही है। दिन रात में छह से सात घंटे की बिजली कटौती को लेकर लोग परेशान हैं। हरमुखपुरी निवासी सतीश काले का कहना है कि नगर की अधिकांश श्रमिक कालोनियों में बेरोजगार श्रमिकों के पास इंवर्टर की व्यवस्था नहीं है। ऐसी स्थिति में सुबह चार बजे बिजली जाने पर बिना इनवर्ट के रह रहे लोगों की नींद टूट जाती और फिर उनको मजबूरी में जागना पड़ता है। दूसरा मच्छरों ने भी नागरिकों को परेशान कर रखा है।

 

नगर पालिका ने काफी समय से नगर में मच्छर मार दवा का छिड़काव नहीं किया है। उधर ग्रामीण अंचल में बिजली कटौती की स्थिति और भी दयनीय है। ग्राम भोजपुर निवासी उमेद सिंह का कहना है कि मौसम की बेरुखी को देखते हो किसान रात दिन गेहंू की निकासी में लगा है ताकि फसल को सुरक्षित स्थान पर रखा जा सके। मगर ग्रामीण अंचल में बिजली का कोई शेड्यूल नहीं है। इससे किसानों को गेहंू निकासी में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में एसडीओ धमेंद्र कुमार कहना है कि अघोषित कटौती स्थानीय स्तर से नहीं हो रही है। फिर भी ग्रामीण अंचल में गेहंू की निकासी को देखते हुए रात्रि में निर्वाध रुप से बिजली देने का प्रयास किया जा रहा है