UPPSC ने स्थगित किया अर्धवार्षिक परीक्षा कैलेंडर, प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर सरकार को घेरा

लखनऊ। यूपीपीएससी ने सहायक अभियोजन अधिकारी (एपीओ) परीक्षा, 2018 समेत आयोग की आगामी सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। आयोग ने इस साल जुलाई से दिसंबर तक की प्रस्तावित परीक्षाओं का अर्धवार्षिक कैलेंडर स्थगित कर दिया है। लिहाजा, आयोग के लिए आगामी एक साल तक किसी भी परीक्षा का आयोजन करा पाना मुश्किल होगा।

इस मामले में कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर यूपी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने लिखा- UPPSC के पेपर छापने का ठेका एक डिफॉल्टर को दिया गया। आयोग के कुछ अधिकारियों ने डिफॉल्टर के साथ सांठ-गांठ करके पूरी परीक्षा को कमीशन-घूसखोरी की भेंट चढ़ा दिया। सरकार की नाक के नीचे युवा ठगा जा रहा है, लेकिन यूपी सरकार डिफॉल्टर्स और कमीशनखोरों का हित देखने में मस्त है।

बताते चलें कि पेपर लीक मामले में परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार की गिरफ्तारी के बाद ही कयास लगाए जा रहे थे कि आयोग जल्द ही कई परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय ले सकता है। नौ जून को एपीओ-2018 की प्रारंभिक परीक्षा होनी थी, जिसे आयोग ने शुक्रवार को स्थगित कर दिया। इसके अलावा जुलाई से दिसंबर तक के अर्धवार्षिक कैलेंडर को भी स्थगित किया गया है, जिसमें 30 अक्टूबर को प्रस्तावित पीसीएस-2019 की प्रारंभिक परीक्षा भी शामिल है। इस संबंध में आयोग के सचिव जगदीश ने आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग कर्मचारी/अधिकारी संघ के अध्यक्ष दिनेश कुमार कहना है कि परीक्षा नियंत्रक का मोबाइल एसटीएफ के पास जाने से उनके मोबाइल में आयोग की सभी गोपनीय जानकारियां अब सार्वजनिक हो चुकी हैं। ऐसे में आयोग को नए सिरे से प्रिंटिंग प्रेसों का पैनल बनाना होगा। नए मॉडरेटर ढूंढ़ने होंगे। इसके अलावा भी कई गोपनीय जानकारियां थीं, जिनके लिए अयोग को अब कुछ बदलाव करने होंगे। इस प्रक्रिया को पूरा करने में ही एक साल का समय बीत जाएगा। ऐसे में आयोग के लिए आने वाले दिनों में परीक्षा का आयोजन करा पाना काफी मुश्किल होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed