नेपाल के इस पर्वतारोही ने 23 बार एवरेस्ट फतेह कर बनाया रिकॉर्ड

काठमांडू। दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट एवरेस्ट को लगातार 23वीं बार नेपाल के रहने वाले 49 वर्षीय पर्वतारोही कामी रीता शेरपा ने फतह कर लिया है। कामी सहित आठ नेपाली पर्वतारोही मंगलवार को माउंट एवरेस्ट की चोटी पर पहुंचे थे। वह दुनिया के सबसे अनुभवी पर्वतारोही हैं। मौजूदा रिकॉर्ड 22 बार का है और वो भी कामी रीता शेरपा के नाम ही है।

नेपाल ने इस साल पर्वतारोहियों के लिए 11,000 डॉलर में रिकॉर्ड 378 परमिट जारी किए हैं। बताते चलें कि साल 1994 में कामी रीता शेरपा पहली बार माउंट एवरेस्ट पर पहुंचे थे। इसके बाद से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। रिकॉर्ड बना चुके कामी शेरपा 25 बार एवरेस्ट को फतह कर इतिहास बनाना चाहते हैं।

इस चोटी पर चढ़ाई करने का सही समय मार्च से मई तक होता है। कामी ने नेपाल की तरफ से माउंट एवरेस्ट पर चढ़ना शुरू किया था। इस चोटी पर पहुंचने का दूसरा रास्ता तिब्बत की तरफ से है।

गौरतलब है कि साल 1953 में पहली बार सर एडमंड हिलेरी और तेनजिंग शेरपा ने माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की थी। इसके बाद से पर्वतारोहण एक आकर्षक व्यवसाय बन गया है। विदेशी पर्वतारोही चोटी पर चढ़ाई करने के लिए अनुभवी शेरपाओं की मदद लेते हैं, जो ईमानदार और मेहनती होते हैं। ये शेरपा पर्वतारोही दल के लिए चढ़ाई का रास्ता तय करते हैं।

बताते चलें कि पिछले साल माउंट एवरेस्ट के शिखर पर रिकॉर्ड 807 पर्वतारोही पहुंचे थे। इसमें से 563 लोग दक्षिण की तरफ से चढ़े थे और 244 पर्वतारोहियों ने तिब्बत की तरफ से अभियान शुरू किया था। इस कोशिश में एक अनुभवी शेरपा गाइड सहित पांच पर्वतारोहियों की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed