भारत लाकर ब्रिटेन के भारतवंशी जबरन करा रहे हैं बच्चों की शादी

लंदन। ब्रिटेन में बसे भारतवंशी अपने बच्चों की शादी जबरन भारत में करा रहे हैं। बीते तीन सालों में इस तरह के मामलों में बढ़ोत्तरी देखी गई है। पिछले साल 2018 में भारतीय मूल के ब्रिटिश नागरिकों के जबरन बच्चों की भारत में शादी करवाने के 110 मामले सामने आए थे। साल 2016 में ऐसे 79 मामले थे, जो 2017 में बढ़कर 82 हो गए।

स्वदेश ले जाकर बच्चों की जबरन शादी करा देने के मामले में पहले नंबर पर पाकिस्तान और दूसरे नंबर पर बांग्लादेश है। वहीं, तीसरे नंबर पर भारत है। चौथे नंबर पर रहे सोमालिया में पिछले साल ऐसे 46 मामले सामने आए। भारत में ऐसे मामले लगातार बढ़ रहे हैं।

यह जानकारी संयुक्त रूप से ब्रिटेन के गृह मंत्रालय और विदेश विभाग के अधीन गठित फोर्स्ड मैरिज यूनिट (एफएमयू) के आंकड़ों में सामने आई है। एफएमयू ने पिछले हफ्ते 2018 के आंकड़े जारी किए। एफएमयू के मुताबिक, जबरन शादी किसी एक देश या संस्कृति का मामला नहीं है।

आंकड़ों के मुताबिक, पाकिस्तान में पिछले साल 769 ऐसे मामले सामने आए, जिनमें ब्रिटेन में बसे पाकिस्तानियों ने स्वदेश पहुंचकर अपने बच्चों की जबरन शादी करा दी। वहीं, 157 मामलों के साथ बांग्लादेश इस मामले में दूसरे नंबर पर रहा।

साल 2011 से एफएमयू के सामने एशिया, पश्चिम एशिया, अफ्रीका, योरप और उत्तरी अमेरिका के 110 से ज्यादा देशों से जुड़े ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। एफएमयू ने बताया कि 2018 में उसकी तरफ से ऐसी 1,764 शिकायतों में मदद दी गई। पिछले साल ब्रिटेन के अंदर भी जबरन शादी के 119 मामले आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed