कमल हासन ने कहा- आजाद भारत का पहला उग्रवादी हिंदू था, नाम है नाथूराम गोडसे

अरावाकुरुची। अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन के एक बयान ने विवाद खड़ा कर दिया है। मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) के संस्थापक हासन ने कहा कि आजाद भारत का पहला उग्रवादी हिंदू था- नाम है गोडसे, जिसने महात्मा गांधी की हत्या की। हासन की टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश भाजपा ने उन पर “विभाजनकारी राजनीति” करने का आरोप लगाया।

इसके साथ ही कमल हासन के खिलाफ चुनाव आयोग में आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत भी की गई है। कमल हासन ने रविवार की रात यहां एक चुनावी सभा में यह बात कही थी। इसके बाद से तमिलनाडु की राजनीति गर्मा गई है। हासन के बयान पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष तमिलसाई सौंदरराजन ने कहा कि यह निंदनीय है कि हासन ने मुस्लिम बहुल इलाके में “हिंदू उग्रवाद” शब्द का इस्तेमाल किया।

उधर, तमिलनाडु प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष केएस अलागिरी ने कमल हासन के बयान का समर्थन करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की तुलना आतंकवादी संगठन आईएस से कर दी। उन्होंने कहा कि इस्लामी आतंकी संगठन की तरह ही आरएसएस जैसे हिंदू संगठन विरोधी विचारधारा को खत्म करने में यकीन रखते हैं। अलागिरी ने कहा कि वह हासन के बयान का 1000 फीसदी समर्थन करते हैं।

वहीं, तमिलनाडु के मंत्री और अन्नाद्रमुक नेता केटी राजेंद्र बालाजी ने बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि इस तरह के बयान देने पर हासन की जुबान काट लेनी चाहिए। उन्होंने चुनाव आयोग से हासन पर कार्रवाई करने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि कमल हासन ने अल्पसंख्यकों का वोट पाने के लिए यह बयान दिया है।

उधर, फिल्म अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने भी बयान के लिए कमल हासन की आलोचना करते हुए ट्वीट किया- “प्रिय कमल सर, आप महान कलाकार हैं। जिस तरह से कला का कोई धर्म नहीं होता, आतंकवाद का भी कोई धर्म नहीं होता। आप कह सकते थे कि गोडसे एक आतंकवादी था, आपने हिंदू शब्द का क्यों इस्तेमाल किया? क्या इसलिए क्योंकि आप मुस्लिम बहुल इलाके में वोट मांगने के लिए गए थे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed