खुद को आग लगाकर युवती बोली, अब कोई मेरा रेप नहीं करेगा, दिल हिला देगी यह कहानी

नई दिल्ली। अस्पताल में भर्ती अन्य मरीजों के परिजन अपने-अपने मरीज छोड़कर उसकी बात कर रहे हैं। सभी को उस युवती की ज्यादा फिक्र है। यह युवती 80 फीसदी तक जल चुकी है। हापुड़ की रहने वाली इस युवती को कई-कई बार अपनों ने बेचा। सालों साल लोगों ने बलात्कार किया। जब यह सब उसके लिए असहनीय हो गया, तो उसने खुद को आग लगाकर खत्म करना चाहा। घावों की जलन से कराहती हुई वह युवती मरने की कामना कर रही है। साथ ही बची-खुची राहत की सांस लेते हुए कह रही है कि कम से कम अब कोई उसका रेप नहीं करेगा।

दरिंदगी के आगे लाचार जिंदगी
हापुड़ का यह मामला आरोपियों की दरिंदगी के साथ-साथ एक युवती की लाचारगी का भी है। अब तो इस मामले की गूंज राष्ट्रीय महिला आयोग तक पहुंच गई है, जिसने उत्तर प्रदेश के डीजीपी को पत्र लिख कर समग्र एक्शन रिपोर्ट मांगी है। मीडिया की सुर्खियां बनने वाले इस घटनाक्रम का सबसे दुखद पहलू यही है कि उस पर जुल्म इस कदर किया गया कि उसे मौत आसान लगने लगी। वह कराहते हुए कहती है, ‘काश कि मैं मर जाती। कोई भी इस तरह के जख्मों को नहीं झेलना चाहता, लेकिन अब जबकि मैं जल चुकी हूं, तो लोग कम से कम मेरा रेप तो नहीं करेंगे।’

14 साल की उम्र में पिता ने ही बेचा
हापुड़ में दो अस्पताल में सही से इलाज नहीं मिलने पर अब पीड़िता को दिल्ली लाया गया है। यहां उसकी हालत स्थिर और चिंताजनक है। जानकारी के मुताबिक, 2009 में पिता और बुआ ने महज 14 साल की उम्र में उसकी शादी उम्र में कही बड़े शख्स से कर दी। बाद में पता चला कि जिसे वह शादी समझ रही थी, वह वास्तव में एक सौदा था।

मासूम को उसकी बुआ और पिता ने ही बेच दिया था। इसके बाद शुरू हुआ यातनाओं का सिलसिला। एक के बाद एक कर 16 लोगों ने उससे बलात्कार किया। किसी को बताने पर जान से मारने से पहले तेजाब डाल हत्या की धमकियां देने लगे। आजिज आकर पीड़िता ने जिंदगी ही खत्म करने का प्रयास किया और खुद को आग लगा ली।

राक्षस था पति
इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने 16 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अस्पताल में दर्द से कराह रही युवती का का कहना है कि उसका दूसरा पति व्यवहार में एक राक्षस की तरह था। बार-बार अपने दोस्तों के सामने परोसा। लगातार बलात्कार कराया। युवती की मानें तो कम से कम 20 पुरुषों ने उसके साथ जबरदस्ती संबंध बनाए। इस दौरान विरोध करने पर एसिड अटैक की भी धमकी दी।

पहली शादी एक साल में ही टूटी
पीड़िता ने पुलिस को बताया कि सिंभावली क्षेत्र के एक गांव निवासी उसके पिता ने दस वर्ष पूर्व (जब वह नाबालिग थी) रुपये लेकर उसका विवाह हापुड़ निवासी युवक के साथ किया था। एक साल में ही रिश्ता टूट गया। इसके बाद पिता और बुआ ने बाबूगढ़ थाना क्षेत्र के एक युवक से 10 हजार रुपये लेकर उसका दोबारा विवाह करा दिया। उसके पति ने एक गांव निवासी बाबू पुत्र राजवीर से कुछ रुपये उधार लिए थे। रकम नहीं चुकाने पर बाबू ने उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। मामले की जानकारी देने पर भी पति खामोश रहा। इस दौरान वह गर्भवती हो गई और उसने पुत्र को जन्म दिया।

पुलिस के पास गई तो आरोपियों ने दी तेजाब डाल जान से मारने की धमकी
इसके बाद पति ने उसे कुछ घरों में काम करने के लिए भेजा। यहां गुड्डू ने दुष्कर्म किया। मधु सिरोही नामक एक महिला ने भी उसके साथ दुष्कर्म करने में एक व्यक्ति की मदद की। विरोध करने पर आरोपितों ने उस पर तेजाब डालने की धमकी दी। आरोपितों के खिलाफ उसने बाबूगढ़ पुलिस से कई बार शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

पुलिस से शिकायत करने से क्षुब्ध कुछ आरोपी 28 अप्रैल 2019 को मुरादाबाद स्थित उसके घर पहुंचे और तेजाब डालने व जान से मारने की धमकी दी। उस समय वह घर पर अकेली थी। इससे क्षुब्ध पीड़िता ने रविवार को खुद को आग के हवाले कर लिया। आग बुझाने में लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहा युवक भी झुलस गया। उपचार के दौरान पीड़िता ने इंसाफ की बात करते हुए एक वीडियो बनाकर वायरल किया। इसके बाद पुलिस हरकत में आई। 15 नामजद समेत 16 आरोपितों पर मुकदमा दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed