अगस्ता वेस्टलैंड वीवाआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले में कथित रक्षा सौदागर को जमानत

नई दिल्ली। अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर खरीद घोटाले से जुड़े मनी लांड्रिग के एक मामले में कथित रक्षा सौदागर सुशेन मोहन गुप्ता को शनिवार को सशर्त जमानत दे दी गई। उसे पांच-पांच लाख रुपए के दो मुचलके भरने होंगे। इसी मामले में सरकारी गवाह बने राजीव सक्सेना को इलाज के लिए विदेश जाने की अनुमति मिल गई है। सक्सेना पर अदालत की मंजूरी के बगैर देश न छोड़ने सहित कई पाबंदियां हैं।

राउज एवेन्यू की विशेष अदालत ने पिछली सुनवाई में सुशेन मोहन गुप्ता और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की दलीलें सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। गुप्ता के अधिवक्ता ने दलील दी थी कि उन्होंने जांच में हमेशा सहयोग किया है और जब भी जांच एजेंसी को जरूरत होगी, गुप्ता हाजिर हो जाएंगे।

वहीं, ईडी ने कहा था कि जांच अभी शुरुआती दौर में है और अगर जमानत दी गई तो आरोपित फरार हो सकता है। ईडी ने कहा था कि इस मामले में गुप्ता की भूमिका राजीव सक्सेना के बयानों के आधार पर सामने आई थी। संयुक्त अरब अमीरात से निर्वासित किए जाने और ईडी द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद सक्सेना मामले में सरकारी गवाह बन गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed