भाजपा विधायक ने पहले महिला को लात मारी, विवाद होने पर बंधवाई राखी

अहमदाबाद। गुजरात के नरोदा से भाजपा विधायक बलराम थवानी ने पहले जिस महिला को लातों से मारा, बाद में उसी से राखी बंधवाकर मामले को निपटाने की कोशिश की। मगर, इस नाटकीय घटनाक्रम के बाद भी थवानी की मुश्किलें खत्म होती नहीं दिख रही हैं। इस मामले को भाजपा ने गंभीरता से लेते हुए विधायक बलराम थवानी को कारण बताओ नोटिस भेजा है।

बताया जा रहा है कि महिला नीतू तेजवानी एनसीपी की वार्ड प्रभारी हैं और वह अपने इलाके में पानी के पाइप लाइन काटे जाने को लेकर विधायक से बात करने गई थी। मगर, इस दौरान हुई कहासुनी के बाद विधायक अपना आपा खो बैठे और महिला को लातों से मारने लगे। बीच-बचाव करने पहुंचे नीतू के पति की भी पिटाई की गई। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद विधायक बलराम थवानी ने शर्मिंदगी जताई और मामले को निपटाने के लिए महिला से राखी बंधवाने का मीडिया के सामने नाटक किया।

हालांकि, वीडियो वायरल होने के पहले तक पुलिस महिला की शिकायत तक दर्ज नहीं कर रही थी। इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद कांग्रेस और एनसीपी ने नरोदा विधानसभा क्षेत्र के विधायक बलराम थवानी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भी इस घटना की निंदा करते हुए थवानी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।

नीतू तेजवानी ने पत्रकारों को बताया कि विधायक ने उन्हें थप्पड़ मारा, तो वह गिर गईं और उसके बाद विधायक ने उन्हें लातों से मारना शुरू कर दिया। वह कुछ दिन पहले उन्होंने भाजपा विधायक के भाई किशोर थवानी (स्थानीय पार्षद) से नरोदा शहर में उनके क्षेत्र की पानी की आपूर्ति नहीं काटने को लेकर संपर्क किया था क्योंकि इसको बहाल करने के संबंध में कानूनी प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने बताया कि पार्षद ने भी उनके साथ अभद्र व्यवहार किया था और उनकी पिटाई की थी।

उन्होंने बताया कि चार-पांच दिन तक जब इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं हुई, तो वह अहमदाबाद के मेघानी नगर क्षेत्र में विधायक कार्यालय में अन्य महिलाओं के साथ गईं। विधायक उस समय कार्यालय में नहीं थे, लेकिन उनके समर्थकों ने उनके साथ अभद्र व्यवहार करना शुरू कर दिया। उन्होंने बताया कि हमने किशोर थवानी के विरोध में वहां नारे लगाए। जल्द ही बलराम भाई एक वाहन से वहां पहुंचे और बाहर आते ही उन्होंने मेरा मोबाइल फोन छीन लिया और थप्पड़ मारा। नीचे गिरने के बाद उन्होंने मुझे लात से मारा और मेरे चेहरे पर अपना जूता रखा। उनके साथ छह-सात और लोग थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed