बुद्ध पूर्णिमा पर बंगाल में हिंदू-बौद्ध मंदिरों पर आत्मघाती हमले की साजिश रच रहा आईएस

कोलकाता। भारत के पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश में बुद्ध पूर्णिमा के दिन आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट तथा जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के आंतकी बौद्ध एवं हिंदू मंदिरों पर आत्मघाती हमले की साजिश रच रहे हैं। श्रीलंका की तरह ही यहां भी आतंकी हमलों को अंजाम दिए जाने की बात सामने आई है। मगर, सबसे ज्यादा हैरान करने की बात यह है कि इस हमलों को अंजाम देने के लिए गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस जानकारी के सामने आने के बाद सुरक्षा एजेंसियां हरकत में आ गई हैं।

हमले की आशंका को लेकर इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) की ओर से जारी अलर्ट के बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। राज्य सरकार को मिली खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक आतंकी ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाने के लिए महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों को निशाना बना सकते हैं। दो सप्ताह पहले आईएस के मिले एक संदेश में पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश को दहलाने की बात कही गई थी। शुक्रवार को आईबी की रिपोर्ट मिलने के बाद राज्य सरकार ने पुलिस को ऐहतियात बरतने के निर्देश दिए हैं।

खुफिया इनपुट मिलने के बाद से राज्य के बड़े बौद्ध और हिंदू मंदिरों की सूची तैयार कर पुलिस ने निगरानी शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार, खुफिया विभाग ने कालीघाट, तारकेश्वर, दक्षिणेश्वर, तारापीठ सहित राज्य के महत्वपूर्ण मंदिरों की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी है। लोकसभा चुनाव के बीच ही आईबी के अलर्ट ने राज्य की पुलिस व प्रशासनिक अफसरों की नींद उड़ा दी है।

इससे पहले आईएस ने पोस्टर लगाकर पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश में आतंकी हमले की धमकी दी थी। आतंकी संगठन ने अबू अहमद अल बंगाली नामक सदस्य को पश्चिम बंगाल एवं बांग्लादेश की जिम्मेदारी सौंपी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed