बजरंग ने फिर जीता गोल्ड मेडल, प्रवीण को मिला रजत

बीजिंग. विश्व में नंबर एक बजरंग पूनिया ने मंगलवार को यहां गोल्ड मेडल मुकाबले में लगातार दस अंक बनाकर एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप का अपना खिताब बरकरार रखा जबकि प्रवीण राणा को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। भारत ने पहले दिन कुल तीन पदक जीते।

बजरंग ने पुरुषों के 65 किग्रा फ्रीस्टाइल फाइनल में कजाखस्तान के सयातबेक ओकासोव को 12-7 से हराकर सोने का तमगा जीता। कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स के चैंपियन बजरंग एक समय 2-7 से पीछे चल रहे थे। तब केवल 60 सेकंड का मुकाबला बचा था लेकिन इस भारतीय ने तीन बार धारंदाज तकनीक (प्रतिद्वंद्वी को पीछे से पकड़कर पटकना) और एक अन्य तकनीक से अंक बनाकर अपनी जीत सुनिश्चित की।

कजाख का पहलवान काफी थका हुआ नजर आ रहा था जबकि बजरंग ने दबाव में भी अच्छा दमखम और बुद्धिमत्ता का परिचय दिया। बजरंग का इस चैंपियनशिप में यह दूसरा गोल्ड मेडल है।

इससे पहले उन्होंने 2017 में भी खिताब जीता था। इस टूर्नमेंट में यह कुल मिलाकर उनका पांचवां मेडल है। इस प्रदर्शन से बजरंग ने फिर से अपने प्रतिद्वंद्वियों तक संदेश भिजवा दिया है कि वह 2020 तोक्यो ओलिंपिक में पदक के प्रबल दावेदार हैं।

बजरंग के गुरु और ओलिंपिक मेडलिस्ट पहलवान योगेश्वर दत्त ने भी उम्मीद व्यक्त की कि उनका शिष्य तोक्यो में पदक जीतने में सफल रहेगा। योगेश्वर ने बजरंग की जीत के तुरंत बाद ट्वीट किया, ‘एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने पर आपको ढेरों शुभकामनायें बजरंग बेटा। 2017 के बाद ये आपका दूसरा स्वर्ण है। हम सब को गर्व है आप पर, इसी तरह आगे बढ़ते रहें और #तोक्यो2020 में भी देश का ध्वज ऊंचा करें। ’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed